ऑटो मोबाइल

- Advertisement -
इंदौरग्वालियरछतरपुरछत्तीसगढ़जबलपुरदिल्लीनेशनलन्यूज़भोपालमध्य प्रदेशहरदा

अजय सिंह के लिए सीट छोड़ने को तैयार कई विधायक, इस्तीफे की पेशकश

अजय सिंह चुरहट से हार गए हैं चुनाव

Views

भोपाल। मध्य प्रदेश में सरकार बनाने जा रही कांग्रेस में विधायक दल का नेता चुनने की प्रक्रिया जारी है। कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ और ज्योतिरादित्य सिंधिया के नाम सीएम की दौड़ में चल रहे हैं। वहीं अब वरिष्ठ नेता अजय सिंह का नाम भी चर्चा में हैं। उनके लिए कई विधायक सीट छोड़ने को तैयार है और कमलनाथ के नाम चिट्ठी लिखकर इस्तीफे की पेशकश कर रहे है।बता दे कि इसके पहले सिंधिया के लिए कई विधायकों ने अपने इस्तीफे की पेशकश की थी।

दरअसल, इस विधानसभा चुनाव में प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अर्जुन सिंह के बेटे और नेता प्रतिपक्ष रहे अजय सिंह (कांग्रेस) अपनी परंपरागत सीट चुरहट से हार गए।अजय सिंह को भाजपा के शरदेन्दु तिवारी ने 6,402 मतों से पराजित किया। तिवारी को जहां 71,909 वोट मिले, वही सिंह को 65,507 मत मिले। अजय सिंह इस सीट से वर्ष 1998 से चार बार लगातार विधायक रहे। इस सीट से वह पहली बार हारे हैं। उनके हार के बाद कई विधायकों ने उनके लिए अपनी सीट छोड़ने का ऐलान किया है। विधायकों का मानना है कि उनसे ज्यादा कांग्रेस को अजय सिंह की जरुरत है।

इनमें नवनिर्वाचित सुनीता पटेल, निलांशु चतुर्वेदी, सुरेन्द्र सिंह, विनय सक्सेना, आलोक चतुर्वेदी के नाम शामिल है जिन्होंने अजय सिंह के लिए अपने इस्तीफे की पेशकश की है। खबर है कि आज ही वे अपने इस्तीफे पीसीसी चीफ कमलनाथ को सौंपेंगें।विधायकों का मानना है कि उनके पद पर बने रहने से ज्यादा जरुरी है कांग्रेस में उनका बना रहना। कांग्रेस को इस वक्त उनकी सबसे ज्यादा जरुरत है। वही नरसिंहपुर जिले की गाडरवाड़ा नवनिर्वाचित विधायक सुनीता पटेल ने कमलनाथ को भेजे जाने वाले अपने त्याग पत्र में लिखा है कि राहुल भैया को कूटनीति से हराया गया है। मैं अपनी सीट से त्याग पत्र देकर उनको यहाँ से चुनाव लड़ाना चाहती हूँ और उनको बड़े बहुमत के साथ जीतकर लाऊंगी, ताकि प्रदेश के साथ साथ गाडरवारा का विकास हो।