ऑटो मोबाइल

- Advertisement -
छत्तीसगढ़

बच्चों की शैक्षणिक गुणवत्ता उन्नयन हेतु अधीक्षक सदैव कार्य करें – कलेक्टर

Cg education news bharat post cg news

Views

 

जशपुरनगर, छत्तीसगढ़
रमेश शर्मा

छात्रावास अधीक्षकों को स्कूली बच्चों के शैक्षणिक गुणवत्ता उन्नयन हेतु निष्ठा और लगन के साथ मेहनत करने की जरूरत है. छात्रावास अधीक्षकों को शैक्षणिक सत्र के प्रारंभ से ही लक्ष्य तय करना चाहिए कि उनके छात्रावास में निवासरत शत् प्रतिशत बच्चे अच्छे अंक प्राप्त कर उत्तीर्ण हों ।

 


उक्त विचार आज कलेक्टर निलेश महादेव क्षीरसागर ने ‘‘यशस्वी जशपुर’’ कार्यक्रम अन्तर्गत जशपुर के शासकीय छात्रावास के विद्यार्थियों के शैक्षणिक गुणवत्ता उन्नयन हेतु आयोजित छात्रावास अधीक्षकों की कार्यशाला में व्यक्त किऐ.
श्री क्षीरसागर ने कहा कि – छात्रावास अधीक्षकों का लक्ष्य होना चाहिए कि उनके छात्रावास में निवासरत बच्चा अपने विद्यालय में बेस्ट प्रदर्शन करें और छात्रावास का कोई भी बच्चा परीक्षा में अनुत्तीर्ण न हो एवं प्रत्येक विद्यार्थी कम से कम प्रथम श्रेणी से उत्तीर्ण हों । उन्होंने कहा कि छात्रावास अधीक्षकों को बच्चों में अनुशासन की भावना जागृत कर अनुशासित रहने हेतु मार्गदर्शन देते हुए बच्चों में पढ़ाई के प्रति रूचि जागृत करने हेतु शिक्षा का महत्व बताते हुए मोटिवेट करना चाहिए । सभी छात्रावासों में अवकाश के दिन बच्चों को मोटिवेशनल सीरियल या फिल्म अनिवार्य रूप से दिखलाई जानी चाहिए । उन्होने कहा कि जिले के छात्रावासों में स्वच्छता का भी पूर्ण ध्यान रखना चाहिए । बच्चों को पौष्टिक भोजन मिले यह व्यवस्था कायम की जानी चाहिए । छात्रावास अधीक्षकों को छात्रावास में एक बेहतर शैक्षणिक वातावरण निर्माण करने में कोई कसर नहीं छोड़नी चाहिए ताकि निवासरत विद्यार्थियों को एक अच्छा शैक्षणिक वातावरण मिले और वे पहले से ज्यादा अच्छा शैक्षणिक प्रदर्शन कर सकें । अधीक्षकों को बच्चों की हर गतिविधि पर नजर रखते हुए उनकी शैक्षणिक प्रगति हेतु कार्य करना चाहिए ।
इस अवसर पर सहायक आयुक्त आदिवासी विकास विभाग के सन्तोष कुमार वाहने ने कहा कि छात्रावास अधीक्षकों को छात्रावासियों हेतु पूर्णरूप से समर्पित होकर कार्य करना होगा .छात्रावास में अध्ययनरत बच्चों की शैक्षणिक समस्याओं के समाधान हेतु तत्काल ठोस पहल करनी चाहिए। छात्रावास में स्कूली बच्चों का निरंतर स्वास्थ्य परीक्षण भी कराया जाना चाहिए। बच्चा स्वस्थ्य रहेगा तो निष्चित ही पढ़ाई में उसका मन लगेगा ।
इस कार्यशाला में ‘‘यशस्वी जशपुर’’ के नोडल अधिकारी विनोद कुमार गुप्ता ने छात्रावास संचालन में आने वाली परेशानियों की जानकारी अधीक्षकों से प्राप्त कर उसके समाधान के उपाय बताये । उन्होंने कहा कि अधीक्षकों को छात्रावास में निवासरत सभी बच्चों के शैक्षणिक प्रगति की जानकारी उनके कक्षा शिक्षकों से प्राप्त करनी चाहिए और बच्चों को लगातार मोटिवेट करना चाहिए । कार्यशाला में ‘‘यशस्वी जशपुर’’ के संजीव शर्मा, संजयदास, राजेन्द्र प्रेमी, नदीम अहमद सहित मण्डल संयोजक एवं समस्त छात्रावास अधीक्षक उपस्थित थे।

1 Comment

Comments are closed.