ऑटो मोबाइल

- Advertisement -
इलेक्शन 19इवेंटन्यूज़न्यूज़भोपालमध्य प्रदेशयू.पी.

2019 लोकसभा चुनाव के लिए कांग्रेस कि सूची जारी

सूची में सबसे ज़्यादा प्रत्याशी असम और तेलंगाना से है।

Views

भोपाल भारत पोस्ट डेस्क
लोकसभा चुनाव 2019 के लिए दिल्ली में 15  मार्च को हुई बैठक जिसमे कांग्रेस के उम्मीदवारों के नामो का चयन होना था । पार्टी के सभी बड़े नेता इस बैठक में शामिल थे । मुख्यमंत्री कमलनाथ भी इस बैठक में गुरुवार को पहुँच गए थे। कल देर शाम कांग्रेस की मीटिंग में 18  प्रत्याशियों की घोषणा कर दी है ,परन्तु इस लिस्ट में मध्य प्रदेश के किसी भी नेता का नाम सामने नहीं आया है । अभी भी पार्टी प्रदेश के उम्मदवारो पर लगातार विचार विमर्श कर रही है।इस लिस्ट में असम, मेघालय, नागालैंड,सिक्किम,तेलंगाना एवं उत्तरप्रदेश के प्रत्याशियों के नाम है । उत्तर प्रदेश से इस लिस्ट में सिर्फ एक प्रत्याशी नाम सामने आया है, वहीँ सिक्किम और नागालैंड से भी एक एक प्रत्याशियों का नाम सामने आया है।सूची में सबसे ज़्यादा प्रत्याशी असम और तेलंगाना से है।
मध्य प्रदेश को लेकर पार्टी अभी काफी असमंजस में है,माना जा रहा है की प्रदेश में शायद कुछ नए चेहरों को आगे रखा जा सकता है परन्तु अभी कोई निर्णय सामने नहीं आया है। छिंदवाड़ा क्षेत्र से कमलनाथ के बेटे नकुलनाथ एवं गुना शिवपुरी सीट से ज्योतिराज्य सिंधिया का चुनाव लड़ना तय माना जा रहा है।
पार्टी के पास स्थानीय स्टार पर भोपाल ,उज्जैन, इंदौर, देवास, मुरैना, भिंड, टीकमगढ़, खजुराहो, रीवा, सीढ़ी, विदिशा, बालाघाट, शहडोल, मंडला, जबलपुर समेत अन्य चार सीटों पर सर्व सम्मति से चुनाव के लिए अभी फिलहाल कोई उमीदवार नहीं है।
19 मार्च को बीजेपी चुनाव समिति की बैठक में नाम होंगे फाइनल
कल शाम हुई बैठक में अध्यक्ष राकेश सिंह ने कहा कि हर लोकसभा सीट पर भाजपा ने बारीकी से चर्चा की है, लोकसभा क्षेत्रों के मौजूदा माहौल पर भी चर्चा हो रही है, कई प्रत्याशियों के नाम पर भी हुआ है मंथन। अध्यक्ष राकेश सिंह ने कहा कि 19 मार्च को बीजेपी चुनाव समिति की बैठक में नाम होंगे फाइनल लोकसभा चुनाव में नेता पुत्रों की टिकट मांगने पर कहा की पार्टी के हर कार्यकर्ता को टिकट मांगने का अधिकार है टिकट देने का फैसला पार्टी हाईकमान के फैसले पर निर्भर करता है ।पार्टी अध्यक्ष करेंगे लोकसभा चुनाव में टिकटों का फैसला।