ऑटो मोबाइल

- Advertisement -
छत्तीसगढ़

जशपुर जंगली हाथी के हमले से किसान की मौत

Views

पत्थलगांव . रमेश शर्मा

छत्तीसगढ़ के जशपुर जिले में पत्थलगांव के समीप बिरिमडेगा गांव में  कल शाम दंतैल हांथी ने खेत में काम कर रहे एक किसान पर हमला कर उसे मौत के घाट उतार दिया । जशपुर वन मंडल अधिकारी कृष्ण कुमार जाधव ने आज बताया कि ग्राम बिरिमडेगा निवासी मृतक  किसान का नाम अमृत उम्र 45 वर्ष है। यह किसान  गुरुवार को शाम जब अपने खेत मे काम कर रहा था तभी अचानक दंतैल हांथी ने पीछे से दौड़ाकर हमला कर दिया और किसान की मौके पर ही मौत हो गई। श्री जाधव ने बताया कि वन विभाग को अपने दल से भटके  इस हाथी की सेटेलाईट से कोई जानकारी नहीं प्राप्त हो पाई थी.इस वजह आसपास के गांवों में ग्रामीण हाथियों की आवाजाही से बेखबर थे. उन्होंने बताया कि पड़ोसी ओडिशा राज्य के जंगलों से जंगली हाथियों को इधर खदेड़ दिया जाता है. ये हाथी ही जशपुर जिले के आबादी क्षेत्रों में अक्सर उत्पात मचाते हैं. श्री जाधव ने कहा ओडिशा राज्य के सुन्दरगढ़ के वन अधिकारियों से मदद लेकर यंहा जंगली हाथियों की गतिविधियों पर निगरानी रखी जा रही है.

इधर कुनकुरी के कांग्रेस विधायक यूडी मिंज का आरोप है कि वन विभाग व्दारा जंगली हाथियों के उत्पात से ग्रामीणों की सुरक्षा के नाम पर खासी लापरवाही बरती जा रही है. उन्होंने कहा कि वन विभाग के सरगुजा वृत  से सेटेलाईट से हाथियों की लोकेशन देख कर ग्रामीणों को पहले ही सतर्कता बरतने की जानकारी देने का दावा किया जाता है. श्री मिंज ने कहा कि वन विभाग का यह दावा सही नहीं है. उन्होंने कहा कि वन विभाग आकाशवाणी से जंगली हाथियों के विचरण करने की सूचना का प्रसारण पूरी तरह अनुपयोगी साबित हो रहा है. इस औपचारिकता से जनहानि रोक पाने मे कहीं पर भी सफलता नहीं मिल रही है.

उन्होंने कहा कि जंगली हाथियों के उत्पात की घटना के साथ जनहानि के मामलों में रोक लगाने की दिशा में बेकार के गैरजरूरी खर्चीले कार्यो के बजाए ठोस पहल करने की जरुरत है.

भारत पोस्ट ऐप डाउनलोड करने के लिए यहाँ क्लिक करें

Leave a Reply