ऑटो मोबाइल

- Advertisement -
भोपालमध्य प्रदेश

माखनलाल विवि में जांच शुरू, पूर्व कुलपति भी घेरे में

Views

भोपाल माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता एवं संचार विवि में हुए घोटाले को लेकर जांच शुरू कर दी गई है। तीन सदस्यीय कमेटी की प्रारंभिक जांच रिपोर्ट में चौंकाने वाला तथ्य सामने आए है। वित्त अधिकारी, प्रोफेसर और असिस्टेंट प्रोफेसर समेत 24 लोगों की नियुक्तियों पर मापदंडो का पालन नहीं हुआ है।
कमेटी की रिपोर्ट ईओडब्ल्यू को सौंप दी गई है। इसमें अनुभव व एकेडेमिक परफॉर्मेंस इंडीकेटर में गड़बड़ी के साथ जो डिग्रियां दी गई हैं, वो जॉॅब करते समय हासिल की गईं। डीजी ईओडब्ल्यू केएन तिवारी का कहना है कि जो जांच रिपोर्ट मिली है, उसके तथ्यों का अन्वेषण किया जा रहा है। इसी आधार पर आगे कार्रवाई की जाएगी।
कमेटी ने अपने आब्जर्वेशन में पाया है कि विवि को इन-फार्मल अथॉरिटी ने हाइजैक कर पैरलाइज्ड बना दिया था। यहां विचारधारा और आर्थिक दोनों रूप में भ्रष्टाचार हुआ है।

भारत पोस्ट की एंड्राइड एप यहाँ क्लिक कर करें डाउनलोड ।

– ये गड़बड़ियां मिलीं
1. मापदंडों का ध्यान नहीं रखा गया। कुकुरमुत्ते की तरह खोले गए स्टडी सेंटर। इसके लिए डायरेक्टर एसोसिएट स्टडी सेंटर जवाबदार हैं।
2. अधिकारी व कर्मचारी भ्रष्ट गतिविधि में लिप्त हैं। उन्होंने वित्त, प्रशासन, अकादमी व भंडार-क्रय, परीक्षा और प्रकाशन शाखा में गड़बड़ी की।
3. विवि के शिक्षक और अधिकारियों ने एक विशेष विचारधारा के लिए काम किया।
4. बड़े पैमाने में अनियमितताएं हैं। भ्रष्ट प्रथाओं को उजागर करने वाले तथ्य और विश्वविद्यालय में समझौतों की बात सामने आई है।

भारत पोस्ट की एंड्राइड एप यहाँ क्लिक कर करें डाउनलोड ।

Leave a Reply