ऑटो मोबाइल

- Advertisement -
नेशनलन्यूज़

Chandra Grahan 2019: साल का पहला चंद्र ग्रहण, दुष्प्रभावों से बचने के लिए 6 मान्यताएं

Moon Eclipse 2019

Views

डेस्क :

साल 2019 का पहला चंद्र ग्रहण (Lunar Eclipse 2019)  आज (21 जनवरी) लगेगा. यह एक पूर्ण चंद्र ग्रहण होगा. इस दिन निकलने वाले चंद्रमा को सुपर ब्लड मून का नाम दिया जाता है. क्योंकि इस दिन ग्रहण के दौरान चंद्रमा का रंग लाल हो जाता है. बताया जाता है कि इस अवधि के दौरान चंद्रमा धरती के काफी नजदीक होता है. यह ग्रहण कुल 3 घंटे 30 मिनट का होगा. हालांकि, यह चंद्र ग्रहण भारत में दिखाई नहीं देगा. भारतीय समयानुसार ये ग्रहण 21 जनवरी को सुबह 10:41 बजे शुरू होगा. यह साल का पहला व आखिरी पूर्ण चंद्र ग्रहण होगा. इसके बाद पूर्ण चंद्र ग्रहण 29 मई 2021 में लगेगा. इसलिए भी ग्रहण का महत्व बढ़ गया है. आज होने वाले ग्रहण को अनोखा चंद्र ग्रहण भी कहा जा रहा है, इस दौरान चांद की रोशनी 30 प्रतिशत ज्यादा तेज हो जाएगी और 15 प्रतिशत बड़ा चंद्रमा दिखाई देता है. कहते हैं वायुमंडल में जितना अधिक प्रदूषण होता है चांद भी उतना ही लाल चमकता है. नेशनल ज्योग्राफिक की रिपोर्ट के अनुसार, पूरे पश्चिमी गोलार्ध में लोग ग्रहण के सभी या कुछ भाग को देख सकेंगे. उत्तरी अमेरिका, सेंट्रल अमेरिका और दक्षिणी अमेरिका के लोग सुपर वुल्फ रेड मून के सभी चरणों को अच्छे से देख पाएंगे. ऑस्ट्रेलिया और एशिया में ये नजारा देखने को नहीं मिलेगा. इससे पहले जनवरी के पहले हफ्ते में हुआ सोलर इक्लिप्स भी भारत में देखने को नहीं मिला था.

मायावती के खिलाफ बीजेपी विधायक की आपत्तिजनक टिप्पणी पर भारी विवाद

 

पहले चरण में चांद में कोई खास अंतर दिखाई नहीं देगा. दूसरे चरण में आंशिक ग्रहण दिखाई देना शुरू होगा. इसके करीब 90 मिनट बाद चांद पूरी तरह से लाल हो जाएगा. मून रेडिश ग्लो दिखाई देगा. फिर प्रक्रिया ऐसे ही उल्टे क्रम में शुरू होगी. अगर मौसम साफ होगा तो इस बेहद अद्भुत नजारे देखें जाएंगे.