ऑटो मोबाइल

- Advertisement -
छत्तीसगढ़

बहनाटांगर में तैयार हो रहा है “नरवा,गरवा,घुरवा व गोठान” योजना का मॉडल, जिला पंचायत सीईओ ने दी थी किसानों को समझाईश

Views

पत्थलगांव/छत्तीसगढ़ रमेश शर्मा

छत्तीसगढ़ सरकार की बेहद अहम नरवा,गरवा,घुरवा व गोठान की योजना का क्रियान्वयन के लिए बहनाटांगर गांव में तैयार होने वाला माॅडल को देख कर इस योजना को समझने के लिए आस पास के किसानों की भीड़ यंहा पहुंच रही है।  इस योजना को लेकर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल शुरू से ही काफी बेहद गंभीर हैं। इस वजह जशपुर जिला प्रशासन ने भी किसानों के फाएदे वाली कल्याणकारी योजना का क्रियान्वयन का काम को पहली प्राथमिकता दी है।

भारत पोस्ट ऐप डाउनलोड करने के लिए यहाँ क्लिक करें 

गांवों में गोठान बन जाने से गौसंवर्धन और आजीविका के विकास की बेहद अहम नरवा, गरवा, घुरवा व गोठान की योजना को समझ लेने के बाद इस योजना के प्रति गांव के किसान काफी रूचि ले रहे हैं। पत्थलगांव तहसील का बहनाटांगर गांव में किसानों के विकास की खातिर बेहद अहम नरवा,गरवा,घुरवा व गोठान की योजना का माॅडल बनाया जा रहा है। ग्राम पंचायत बहनाटांगर की महिला सरपंच श्रीमती सम्पत्ति बाई इन दिनों चिलचिलाती धूप  की परवाह किए बगैर मांड नदी के समीप किसानों की भलाई वाली इस योजना को जल्द से जल्द पूरा कराने में जुटी हुई है।जिला पंचायत ने नरेगा योजना के तहत बहनाटंागर गांव में राज्य सरकार की बेहद अहम “नरवा,गरवा,घुरवा व गोठान” की योजना का माॅडल तैयार करने के लिए आबंटन मुहैया कराया है।

भारत पोस्ट ऐप डाउनलोड करने के लिए यहाँ क्लिक करें 

जिला पंचायत के सीईओ राजेन्द्र कटारा ने पिछले दिनों बहनाटांगर गांव पहुंच कर यंहा ग्रामीणों की चैपाल लगा कर इस योजना की विस्तृत जानकारी दी थी। श्री कटारा ने बहनाटांगर क्षेत्र के किसानों से रूबरू चर्चा कर उन्हे इस योजना से खेती का धंधा को लाभ का धन्धा बनाने की बातें समझाई थी। स्थानीय किसानों की भागीदारी वाली “नरवा,गरवा,घुरवा व गोठान” योजना का बहनाटांगर गांव में माॅडल बनाऐ जाने पर अब आस पास की ग्राम पंचायतों के किसान भी यंहा का काम को देखने पहुंच रहे हैं।
बहनाटांगर ग्राम पंचायत के सचिव भानु सिदार ने बताया कि इस योजना में स्थानीय 25 किसानों का समूह बना कर उन्हे भी इसके लाभ से जोड़ दिया गया है। खेती का व्यवसाय से जुड़े किसानों को यह योजना काफी पसंद आई है। इसी वजह इस योजना को पूरा कराने में किसान अपनी सहभागिता देने लगे।

भारत पोस्ट ऐप डाउनलोड करने के लिए यहाँ क्लिक करें 

जिला पंचायत के सीईओ श्री कटारा बहनाटांगर में किसानों के विकास की बेहद अहम ” नरवा, गरवा,घुरवा व गोठान ” की योजना का माॅडल तैयार कराने के लिए यंहा पहुंच कर लगातार मार्गदर्शन भी दे रहे हंै।  ग्रामीणों की चैपाल के बाद यंहा के किसान श्री कटारा से सीधे फोन पर सम्पर्क कर अपनी अन्य जिज्ञासा के भी सवाल कर ले रहे हैं।
बहनाटांगर का माॅडल में आस पास के किसान अपने मवेशियों को भी लाने लगे हैं। यंहा पर एकत्रित होने वाले मवेशियों के लिए गांव के ही किसानों ने पुआल तथा अन्य चारा पानी की भी व्यवस्था कर दी है।

भारत पोस्ट ऐप डाउनलोड करने के लिए यहाँ क्लिक करें 

बहनाटांगर की महिला सरपंच श्रीमती सम्पत्ति बाई ने बताया कि यंहा 6 एकड़ के भू भाग में मवेशियों का चारा के लिए मक्का और घांस लगाने की भी तैयारी की जा रही है। मांड नदी का बेनसारी नाला से मवेशियों के लिए पानी की व्यवस्था कर दी गई है। यंहा पर मवेशियों के लिए चारा पानी के बेहतर इंतजात हो जाने से किसानों को मवेशियों व्दारा उनकी फसल चरने की समस्या से भी छुटकारा मिल सकेगा। इस योजना से अंचल के किसानों को खरीफ के साथ रबी की फसल का रकबा बढ़ाने में भी मदद मिल सकेगी।

भारत पोस्ट ऐप डाउनलोड करने के लिए यहाँ क्लिक करें 

13 Comments

Comments are closed.