ऑटो मोबाइल

- Advertisement -
नेशनल

पश्चिम बंगाल: हड़ताल कर रहे डॉक्टर बोले- माफी मांगें ममता बनर्जी

दिल्ली एम्स के डॉक्टरों ने पश्चिम बंगाल सरकार को 48 घंटे का अल्टीमेटम दिया, अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जाने की धमकी

Views

पश्चिम बंगाल में जूनियर डॉक्टर के साथ मारपीट के बाद शुरू हुई हड़ताल आज भी जारी है। अब इस हड़ताल का असर बंगाल समेत दिल्ली, महाराष्ट्र, हैदराबाद और कई राज्यों में भी देखने को मिल रहा है। इससे पहले ममता ने कहा था कि डॉक्टर अपनी हड़ताल खत्म कर काम पर लौटें, नहीं तो कड़ी कार्रवाई होगी। इसी बयान को लेकर बंगाल जूनियर डॉक्टर जॉइंट फोरम नाराज है। उन्होंने ममता के सामने 6 शर्तें भी रखीं हैं। वहीं, दिल्ली एम्स के डॉक्टरों ने पश्चिम बंगाल सरकार को मांगें मानने के लिए 48 घंटे का अल्टीमेटम दिया। उन्होंने अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जाने की धमकी भी दी।

पश्चिम बंगाल के एनआरएस मेडिकल कॉलेज और अस्पताल में दो डॉक्टरों पर हमले के खिलाफ विरोध जताते हुए दिल्ली के एम्स, मौलाना आजाद मेडिकल कॉलेज (एमएएमसी) और सफदरजंग अस्पताल के डॉक्टर आज भी हड़ताल कर रहे हैं।
वहीं, कलकत्ता हाईकोर्ट ने बंगाल सरकार को तुरंत हड़ताल कर रहे डॉक्टरों से बातचीत कर मामले को सुलझाने के लिए कहा है।

एम्स के डॉक्टर्स ने ममता बनर्जी सरकार को 48 घंटे का अल्टीमेटम दिया
दिल्ली एम्स के रेजिडेंट डॉक्टर्स एसोसिएशन ने ममता बनर्जी सरकार को 48 घंटे का अल्टीमेटम दिया है। आरडीए की तरफ से जारी बयान में कहा गया है, “हम पश्चिम बंगाल सरकार को हड़ताली डॉक्टरों की मांगों को पूरा करने के लिए 48 घंटे का अल्टीमेटम जारी करते हैं, अगर ऐसा नहीं होता तो हमें एम्स में अनिश्चितकालीन हड़ताल का सहारा लेने के लिए मजबूर होना पड़ेगा।”

डॉक्टरों की छह शर्तें

  • मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को डॉक्टरों को लेकर दिए गए बयान पर बिना शर्त माफी मांगनी चाहिए।
  • डॉक्टरों पर हुए हमले की निंदा करते हुए एक बयान जारी करना चाहिए।
  • पुलिस की निष्क्रियता की जांच होनी चाहिए।
  • डॉक्टरों पर हमला करने वालों के खिलाफ कार्रवाई होनी चाहिए।
  • जूनियर डॉक्टरों और मेडिकल छात्रों पर लगाए गए झूठे आरोपों को वापस लिया जाना चाहिए।
  • अस्पतालों में सशस्त्र पुलिसकर्मियों की तैनाती की जानी चाहिए।

भारत पोस्ट ऐप डाउनलोड करने के लिए यहाँ क्लिक करें